News

Gaming App Fraud

Weapon of Cyber Fraud in Children’s Hand

News: Two cases have been reported recently:

Cyber criminals always keep looking for ignorant section of society to commit fraud. In this trick, they made the children's mobile gaming app as their weapon. The name of this gaming app used as a weapon for cheating is Garena Free Fire. After the ban on PUBG, it has become very popular among children. Through this app, different complaints of fraud are reaching the cyber police station. Two such cases have been reported in Ranchi, the capital of Jharkhand.

In one case, the 3,300 rupees were withdrawn from the gaming app from the account of Prashant Agarwal, who lives in Lalpur.  In another incident,  Rs 2400/- from the account Kishore Kumar, a resident of Bariatu, Ranchi, was deducted as his nine year old son played the game. Both frauds had been done through the Free Fire gaming app itself.

[Source: the420.in]

 

News Analysis:

Free Fire game allows multiple people to play on the same platform. For this, virtual hacks, arms, dresses, shields, diamonds are bought in the app. Cybercriminals demand online payments in the name of giving gaming apps virtual tools such as dresses, shields, hacks, diamonds etc. and enhancing labels to play games. In this way, with the help of children, they take the details of the bank's debit card (ATM card) of parents. They break into accounts by taking card number and CVV. They also take children's help in getting OTP sent on parent's mobiles.

Some cyber criminals also become co-players in the game and help the target children with 'cheat sheets' to make them win the game. By this they earn their trust and take ATM card details, OTP etc of their parents. 

WeSeSo Advice

  • Parents must make their children aware of such frauds. They must regularly interact with their children on their mobile activities and habits.
  • This kind of news analysis must be shared with children.
  • Many gaming Apps come loaded with malware. So before installation, enough search should be done on internet about the authenticity of App and its provider.
  • They should keep their mobiles protected with biometric lock so that children are unable to see OTP without their permission.
  • Immediately call National Helpline Number 155260 if you become a victim and report on cybercrime.gov.in

WeSeSo Learning Foundation, a non-profit organization, aims to make a cyber-safe society with school students as the Agents of Change. If you find it useful then share it with others and help us secure the society because our motto is – We Secure Society.

0 232

गेमिंग ऐप फ्रॉड

बच्चों के हाथ में साइबर फ्रॉड का हथियार

समाचार:

हाल ही में दो मामले सामने आए हैं:

साइबर अपराधी हमेशा समाज के उस  वर्ग को ठगने के लिए नए तरीके  खोजते रहते हैं जो साइबर दुनिया के खतरों से अनभिज्ञ हैं इस तरकीब में उन्होंने बच्चों के मोबाइल गेमिंग ऐप को अपना हथियार बना लिया है धोखाधड़ी के हथियार के तौर पर इस्तेमाल किए जाने वाले इस गेमिंग एप का नाम गरेना फ्री फायर है। पबजी पर बैन के बाद यह बच्चों के बीच काफी लोकप्रिय हो गया है। इस एप के जरिए साइबर थाने में धोखाधड़ी की अलग-अलग शिकायतें पहुंच रही हैं। झारखंड की राजधानी रांची में ऐसे दो मामले सामने आए हैं.

एक मामले में लालपुर के रहने वाले प्रशांत अग्रवाल के खाते से गेमिंग एप से 3300 रुपये निकाल लिए गए क्योंकि उनका आठ साल का बच्चा यह गेम खेल रहा था एक अन्य घटना में, रांची के बरियातू निवासी किशोर कुमार के खाते से 2400 रुपये काट लिए गए, क्योंकि उसका नौ साल का बेटा यह गेम खेल रहा था। दोनों ठगी  फ्री फायर गेमिंग ऐप के जरिए ही किए गए थे।

स्रोत: the420.in

समाचार विश्लेषण:

फ्री फायर गेम कई लोगों को एक ही प्लेटफॉर्म पर खेलने की अनुमति देता है। इसके लिए ऐप में वर्चुअल हैक्स, आर्म्स, ड्रेस, शील्ड, डायमंड खरीदे जाते हैं। साइबर क्रिमिनल्स गेमिंग ऐप्स यह सब खरीदने और गेम का  लेबल बढ़ाने के नाम पर ऑनलाइन पेमेंट की मांग करते हैं। इस तरह बच्चों से माता-पिता के बैंक के डेबिट कार्ड (एटीएम कार्ड) की डिटेल लेते हैं। वे कार्ड नंबर और सीवीवी लेकर खातों में सेंध लगाते हैं। माता-पिता के मोबाइल पर ओटीपी भेजने में भी वे बच्चों की मदद लेते हैं।

कुछ साइबर अपराधी भी खेल में सह-खिलाड़ी बन जाते हैं और लक्षित बच्चों को 'चीट शीट' से गेम जीतने में मदद करते हैं। इसके द्वारा वे अपना विश्वास अर्जित करते हैं और अपने माता-पिता के एटीएम कार्ड विवरण, ओटीपी आदि लेते हैं।

 

WeSeSo सलाह

  • माता-पिता को चाहिए कि वे अपने बच्चों को इस तरह की धोखाधड़ी से अवगत कराएं। उन्हें अपने बच्चों के साथ उनकी मोबाइल गतिविधियों और आदतों पर नियमित रूप से बातचीत करनी चाहिए।
  • इस तरह के समाचार विश्लेषण को बच्चों के साथ साझा किया जाना चाहिए।
  • कई गेमिंग ऐप्स मालवेयर से लोडेड आते हैं। इसलिए इंस्टालेशन से पहले, ऐप और उसके प्रदाता की प्रामाणिकता के बारे में इंटरनेट पर पर्याप्त खोज की जानी चाहिए।
  • उन्हें अपने मोबाइल को बायोमेट्रिक लॉक से सुरक्षित रखना चाहिए ताकि बच्चे उनकी अनुमति के बिना ओटीपी नहीं देख सकें।

WeSeSo Learning Foundation (एक गैर-लाभकारी संगठन) का उद्देश्य स्कूली छात्रों को परिवर्तन के एजेंट बनाकर एक  साइबर-सुरक्षित समाज बनाना है। अगर आपको यह उपयोगी लगे तो  इसे दूसरों के साथ साझा करें और समाज को सुरक्षित करने में हमारी मदद करें क्योंकि हमारा आदर्श वाक्य है - वी सिक्योर सोसाइटी

(द्वारा: WeSeSo  साइबर वारियर्स)

0 232