News

फ़र्ज़ी ऐप्स से सावधान रहें। ऐसे ऐप्स बहुत ही खतरनाक होते है !!

नकली मोबाइल ऐप आम तौर पर एंड्रॉइड या आईओएस एप्लिकेशन के होते हैं जो असली एप्लिकेशनों के जैसा हिन् दीखता है और काम करता है , ऐसे ऐप दिखने में असली ऐप जैसे होते है लेकिन असल में उपभोगता के सारे इनफार्मेशन चुरा लेते है।

मुख्य लेखक:

  • रिया सिंह, 10 वीं कक्षा, एनसीएस कोच्चि

योगदान:

  • सास्वत, 10 वीं, एनसीएस, नई दिल्ली
  • प्रियांजन, 10 वीं, एनसीएस, नई दिल्ली
  • अतुल कृष्ण, 10 वीं एनसीएस कोच्चि
  • राशी गुप्ता, 8 वीं, डीएवी पब्लिक स्कूल जसोला विहार, नई दिल्ली
  • रीना यादव, 8 वीं एनसीएस, नई दिल्ली

कार्टून द्वारा योगदान:

  • एस. जोशिका, 9 वीं एसटीडी, एनसीएस, पोर्टब्लेयर

क्या हैं फर्जी ऐप?

नकली ऐप ऐसे एप्लिकेशन हैं जो उपयोगकर्ताओं को अपने मोबाइल या कंप्यूटर पर डाउनलोड करने या उन्हें इंस्टॉल करने के बाद उनके मोबाइल या कंप्यूटर की सारी जानकारी हैकर को भेजती है ।  एक बार जब उपयोगकर्ता ऐसे एप्लिकेशन इंस्टॉल या डाउनलोड कर लेता है, तो एप्लिकेशन विभिन्न तरीके से उपयोगकर्ता के साड़ी निजी जानकारी चुरा लेता है कही दूर बैठे हैकर के सर्वर पर भेज देता है।

घटना:

हैकर्स निर्दोष लोगों को पीड़ित करने के लिए अलग-अलग चालें खेलते हैं।  कोरोना वातावरण में, हर कोई ऑक्सीजन स्तर की जांच करने के लिए एक ऑक्सिमीटर रखना चाहता है।  इन ऑक्सीमीटर की बाजार में कीमत 1500-4000 / - रुपये है।  हैकर्स ने ऑक्सिमीटर नामक नकली आप बना कर लोगो को बिभिन माध्मय से भेजना शुरू कर दिआ है. ।

ऐसे ऐप्स डाउनलोड करने या स्थापित करने का जोखिम:

  • ऐसे ऐप उपयोगकर्ताओं को अपनी ईमेल आईडी, पासवर्ड और मोबाइल नंबर आदि देने के लिए कहते हैं।
  • इस तरह के ऐप यूजर्स से अपनी फिंगर प्रिंट देने और बैंक अकाउंट देने के लिए कहते हैं।
  • उनमें से कुछ निम्न रक्तचाप के लिए उपचार और समाधान के लिए एक नकली संपर्क नंबर दे सकते हैं और धोखा दे सकते हैं।

 संरक्षण मंत्र 

  • डाउनलोड करने से पहले सोचें
  • क्या मुझे वास्तव में इस ऐप की आवश्यकता है?
  • यह मुझे क्यों मुफ्त दिया जा रहा है?
  • इस ऐप को इंस्टॉल करने के दौरान मैं इसे क्या अनुमति दे रहा हूं?
  • हमेशा आधिकारिक दुकानों पर जाएं। कभी भी अज्ञात स्रोतों या स्टोर से डाउनलोड न करें
  • उन सभी चीज़ों को ध्यान से पढ़ें और जिन ऐप्स को आप डाउनलोड करना चाहते हैं, उनमें पूछी गई अनुमतियों का विश्लेषण करें।
  • App की प्रामाणिकता पर एक Google खोज करें। ऐप के कई रिव्यू हो सकते हैं।
  • एक ऐसे व्यक्ति से सलाह लें जिसने ऐप का इस्तेमाल किया है, क्योंकि समीक्षाएं नकली हो सकती हैं।